Thursday, April 25, 2013

आज मन बहुत उदास है,



आज मन बहुत उदास है...
न जाने मौसम का असर है ,,
या कोई बात खास है..
चुप भी होना चाहता हूँ,
और बोलना भी साथ में,,
इस जद्दोजहद का कैसे कहूँ. 
कैसा मुझे एहसास है,,
आज मन बहुत उदास है,,
जिसको अब तक मानता था,,
है सही रास्ता यही,,
उस हंसी रस्ते पे ही..
अब सवालों की बरसात है...
खूब कहकहे कहे,,
खूब हंसा हूँ आज मैं,,,
फिर भी न जाने दिल क्यों,,
आज, इतना उदास है,,
बात कुछ भी है नहीं,.
फिर भी बहुत खास है,,
...आज मन बहुत उदास है,
सौरभ --

No comments: