Friday, February 25, 2011

प्यार बहुत जरुरी है...

मैं तेरा हूँ, तू मेरी है.
पर चाहत अभी अधूरी है.
पास भी होके दूर हैं हम
ये कैसी मज़बूरी है...

कुछ तुम उलझी हो रिश्तों में.
कुछ मेरी भी मज़बूरी है..
लेकिन इतना ध्यान रहे कि 
प्यार बहुत जरुरी है..

कुछ खोना है , कुछ पाना है..
जीवन का साथ निभाना है
प्यार का मकसद कभी नहीं 
कि मिलना ही जरुरी है.

लेकिन इतना ध्यान रहे कि प्यार बहुत जरुरी है...

1 comment:

D.N.Umrao said...

DEDEY JI ! ur composition is very nice ......................give it common problem sense .................